SEO क्या है और SEO कैसे करते हैं?

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से मैं आपको बताऊंगा SEO क्या है? और किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग के लिए SEO क्यों जरुरी है? SEO कितने तरह का होता है – या फिर ये कहें SEO करने का सही तरीका क्या है ।

आज कल आप सभी लोग ये वर्ड सुनते होंगे और सोचते होंगे आखिर ये है क्या? आपको परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है मैं आपको काफी आसान भाषा में SEO समझाऊंगा ।

what is seo kya hai in hindi

SEO Meaning In Hindi

दोस्तों SEO को समझने के लिए आपको सबसे पहले SEO का मतलब समझना होगा । और SEO का मतलब होता है सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization). अब आप पूछोगे सर्च इंजन क्या होता है ?

सर्च इंजन क्या है? ( What is Search Engine In Hindi)

दोस्तों हमलोग इंटरनेट पे किसी भी जानकारी के लिए Google, YouTube, Yahoo और Bing जैसे वेबसाइट पे हमें जो जानना होता है उसे सर्च करते हैं। और इसी वेबसाइट को सर्च इंजन कहते हैं। अब आप समझ गए होंगे सर्च इंजन क्या है । अब मैं आपको बताता हूँ सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन यानि short में SEO क्या है?

SEO क्या है? (What Is SEO In Hindi)

दोस्तों हमलोग जब भी Google पे कुछ सर्च करते हैं तो बहुत सारे वेबसाइट रिजल्ट पेज पर Google दिखता है। अब बात यह आती है गूगल कैसे decide करता है किस वेबसाइट को पहले दिखाना है और किस वेबसाइट को बाद में।

दोस्तों हर सर्च इंजन का कुछ नियम (Algorithm) होता है। जो भी वेबसाइट उस नियम को follow करता है सर्च इंजन उसी वेबसाइट को सर्च रिजल्ट पेज पर Show करता है।

इसी नियम (Algorithm) को फॉलो करते हुए हम लोग किसी भी वेबसाइट को एक प्लानिंग और Strategy के साथ ऑप्टिमाइज़ करते हैं। जिससे वो वेबसाइट या ब्लॉग सर्च इंजन के रिजल्ट में इंडेक्स और रैंक कर सके। इसी को SEO कहते हैं

ब्लॉग और वेबसाइट के लिए SEO क्यों जरुरी है?

दोस्तों किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को हमलोग इसलिए बनाते हैं कि, ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने किसी प्रोडक्ट या कंटेंट के बारे में जानकारी दे सकें।

और जब हम अपने वेबसाइट का SEO नहीं करेंगे तो वेबसाइट सर्च इंजन में इंडेक्स और रैंक नहीं करेगा। जिससे हमारे वेबसाइट पे Visitor भी नहीं आएगा। और हमारे वेबसाइट और ब्लॉग को बनाने का कोई मतलब ही नहीं रह जायेगा।

SEO कैसे काम करता है? (How SEO Works In Hindi)

how seo works in hindi - seo kaise kaam karta hai

SEO kaise Kaam karta Hai: दोस्तों SEO के काम करने का चार प्रक्रिया (Process) हैं

  • पहला सबमिशन (submission)
  • दूसरा क्रॉलिंग (crawling)
  • तीसरा इंडेक्सिंग (Indexing) और
  • चौथा रैंकिंग (raking)

Submission: दोस्तों हम जब भी अपने वेबसाइट या ब्लॉग पे कोई कंटेंट पोस्ट करते हैं तो हमें उसकी जानकारी सर्च इंजन को देना होता है। इसी प्रोसेस को सबमिशन कहते हैं। और SEO के लिए यह एक Important प्रक्रिया (process) है।

क्यूंकि जब तक हम सर्च इंजन को बताएँगे नहीं सर्च इंजन को ये तुरंत पता नहीं चल पायेगा। और फिर हमारे कंटेंट को सर्च इंजन में इंडेक्स होने में काफी समय लग जायेगा।

Crawling: दोस्तों जब हम अपने नए पोस्ट कि जानकरी सर्च इंजन को देते है। तो सर्च इंजन एक स्पाइडर भेजता है हमारे कंटेंट को एनालाइज करने के लिए। इसी प्रक्रिया को क्रॉलिंग (Crawling) कहते है।

Indexing: दोस्तों हमारे कंटेंट को एनालाइज करने के बाद अगर सर्च इंजन हमारे वेबसाइट पे सब कुछ सही पाता है, तो वह हमारे कंटेंट को इंडेक्स कर लेता है। इसी प्रक्रिया को इंडेक्सिंग कहते हैं।

Ranking: दोस्तों ये SEO का अंतिम प्रक्रिया है। और यह हमारे कंटेंट कि क्वालिटी और बहुत सारे रैंकिंग फैक्टर के आधार पे सर्च इंजन Decide करता है हमारे कंटेंट को किस स्थान पे सर्च रिजल्ट में दिखाना है।

SEO कितने तरह का होता है? (Types of SEO In Hindi) या SEO करने का सही तरीका क्या है?

types of seo in hindi - seo kitne tarah ka hota hai

दोस्तों हम अपने वेबसाइट को इंडेक्स और रैंक करने के लिए जो काम करते हैं, उसी के आधार पे SEO करने के चार प्रकार होते हैं।

1. Technical SEO: दोस्तों technical SEO में हम अपने वेबसाइट तो सर्च इंजन Algorithm के अनुसार जितने भी टेक्निकल रैंकिंग फैक्टर हैं, उनको ध्यान में रखकर अपने वेबसाइट के परफॉरमेंस को Improve करते है। ताकि सर्च इंजन हमारे वेबसाइट को सही से क्रॉल कर सके।

2. On-पेज SEO: दोस्तों On-पेज SEO ऐसी प्रक्रिया है जिसमे हम अपने वेबसाइट के कंटेंट को सर्च इंजन के अनुसार ऑप्टिमाइज़ करते हैं चाहे वो टेक्स्ट कंटेंट हो या इमेज कंटेंट।

3. Off-पेज SEO: दोस्तों ऑफ-पेज SEO में हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट पे कोई काम नहीं करते हैं, बल्कि अपने वेबसाइट से बाहर अपने कंटेंट को रैंक कराने के लिए जो तकनीक अपनाते हैं उसे ऑफ-पेज सो कहते हैं। जैसे कि गेस्ट पोस्ट करना , Social Media Submission करना इत्यादि।

4. Stop Negative SEO: दोस्तों नेगेटिव SEO कोई SEO करने का तरीका नहीं है बल्कि यह वो गलतियां हैं जो हम जाने अनजाने On-पेज और ऑफ-पेज SEO करने के दरमियान करते है। लकिन हमें ऐसा नहीं करना चाहिए।

कभी-कभी हमारे Competitor भी हमारे लिए ऑफ पेज नेगेटिव SEO करते है। उदाहरण के लिए वो हमारे पोस्ट का लिंक किसी गलत वेबसाइट पे पोस्ट कर देते है। जिससे स्पैम बैक लिंक्स हमारे वेबसाइट को पॉइंट करता है। इसलिए हमें SEO करने के समय साथ साथ हमें अपने वेबसाइट को नेगेटिव सो से भी प्रोटेक्ट करना होता है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x
Share via
Copy link